UPSC-IAS टॉपर नंदिनी ने बताया अपनी सफलता का फॉर्मूला

0
269

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा, 2016 में पहली रैंक हासिल करके एक बार फिर यह साबित कर दिया है कि ल़डकिया किसी से कम नहीं है। उन्होने यह कारनामा करने में बहुत ही मेहनत की है पिछले 4 साल से वह इसका एग्जाम दे रही है जिसका फल उन्हें अब मिला है। संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) की सिविल सेवा परीक्षा, 2016  का परिणाम देर रात बुधवार को घोषित हुआ था।

अपको बता दें की नंदिनी अभी फरीदाबाद स्थित राष्ट्रीय सीमा-शुल्क, उत्पाद शुल्क एवं नारकोटिक्स अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्त कर रही हैं। वैसे तो वो कर्नाटक मूल निवासी है।

आइए जानते है कि उन्होने आपना सपना कैसे पूरा किया है-

 क्या यह सपना आपका है या आपके घरवालों का ?

उन्होने बताया की आईएस अधिकारी बनाना मेरा हमेशा से सपना रहो है और इस सपने से मेरे परिवार वाले साथ थे।

आपके माता-पिता क्या करते हैं ?

नंदिनी के पिता सरकारी स्कूल में शिक्षक है और मां गृहिणी हैं।

आप परीक्षा की तैयारी केसे करती थी ?

जी मेने कभी घंटे के हिसाब से पढाई नही करती थी बल्कि एक निश्चत लक्ष्य बना कर पढाई करती थी।

आपने अपनी मूल भाषा को वैकल्पिक विषय क्यों चुना ?

नंदिनी बताती है कि सब्जेक्ट कोई सा भी हो  अच्छी तैयारी और प्रयास से सफलता प्राप्त होती है।

आप क्या सुझाव देना चाहती है परीक्षा की तैयारी कर रहें छात्रों से ?

अगर आप अपना पूरा मन और निश्चित लक्ष्य बनाकर उसके लिए मेहनत करेगें तो आपको सफलता जरुर मिलेगी।

और आखरी सवाल जो लोग लड़कियों को बोझ मानते हैं उनके लिए क्या संदेश है ?

नंदिनी कहा लड़की और लड़कों में कोई फर्क नहीं करना चाहिए. अगर परिवार वाले दोनों को मौका देते हैं तो आप देख सकते हैं लड़की कितना आगे निकल सकते हैं, जो देश के लिए भी अच्छा है. नंदिनी ने अपनी सफलता का श्रेय पूरे समाज के साथ-साथ अपने परिवार को दिया

Click Here to Share This on Whatsapp


Whatsapp Twitter Facebook Google+

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY