आयुर्वेद के अनुसार खाने से जुड़े इन नियमों को रखेंगे याद, तो कभी नहीं पड़ेंगे बीमार

0
14

जयपुर, दिन की थकावट के कारण, हम अक्सर वही खाते हैं जो हमारे पास रात में होता है। हम यह सुनिश्चित करते हैं कि नाश्ता स्वस्थ है लेकिन रात के खाने के लिए इतना मत सोचो। आयुर्वेद के अनुसार, यदि आप नाश्ता करते हैं, तो आपको रात के खाने से संबंधित कुछ नियमों पर ध्यान देना चाहिए।भोजन करने संबंधी कुछ जरूरी नियम... इन नियमों का पालन करने वाले कभी बीमार नहीं पड़ते। आयुर्वेद के अनुसार, शरीर के तीन मुख्य तत्व या प्रकृति हैं। इनमें बात, पित्त और कफ शामिल हैं। शरीर में इन तत्वों का संतुलन गड़बड़ा जाने पर व्यक्ति बीमार हो जाता है।  भोजन में चीनी की जगह गुड़ या शहद का प्रयोग करें।सुबह का नाश्ता, दोपहर का भोजन व रात ... मटन की जगह दलिया खाने पर जोर दें।  अदरक का एक छोटा टुकड़ा लें और इसे कद्दूकस पर भूनें और ठंडा होने के बाद इस पर सिंधव नमक डालें। भोजन से 5 मिनट पहले इस अदरक का सेवन करें। यह भूख बढ़ाता है और पाचन में भी सुधार करता है।रात्रि मैं स्वस्थ शरीर के लिए कोनसा ... जंक फूड में सोडियम, ट्रांस फैट्स और शक्कर भी शामिल होते हैं जिनसे बचना चाहिए। बाजार में उपलब्ध शीतल पेय से भी बचना चाहिए। भोजन हमेशा ताजा तैयार होना चाहिए। यह उचित पाचन में मदद करता है।  आयुर्वेद में बताया गया है कि किसी को भूख लगने पर आधा ही खाना चाहिए।आयुर्वेद में बताया गया है कि खाना हमेशा भूख का आधा खाना चाहिए। इससे वह आसानी से पच जाता है और शरीर में जरूरी पोषक तत्व अच्छे से घुल जाते हैं।

Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY