भारतीय इतिहास के 11 सबसे बड़े सांप्रदायिक दंगे, जिन्हें याद करके कांप जाती है हमारी रूह

0
774


सांप्रदायिक दंगे ये एक ऐसी जंग है जिसमें एक ही स्थान के दो जातियों के लोगो के बीच जन्मो-जन्मों तक दुश्मनी पैदा हो जाती है और पीछे छोड जाती है कभी ना भरने वाले हजारों जख्म। वैसे भारत भारत में साम्प्रदायिक हिंसा का इतिहास बहुत पुराना है, भारत में साम्प्रदायिक दंगों की शुरुआत संभवत कज्हुहुमालाई और सिवाकासी में सन 1895 और 1899 होने वाले दंगों से शुरू हुई। इन साम्प्रदायिक हिंसाओं को कराने वालें सियासी लोग अपना स्वार्थ पूरा कर लेते है और उनके चक्कर में हजारों-लाखों जिंदगियां मौत और डर के साथ सदा ही दुख के साथ अपना बचा जीवन गुजारती है। कुछ विशेष और स्वार्थपूर्ण राजनीति के चलते इस तरह के दंगे कराए जाते रहें है। आज हम आपको भारत के इतिहास के उन त्रासदीपूर्ण जातिगत दंगों के बारें में बता रहे है जिससें भारत की एकता और सांप्रदायिक सदभाव बुरी तरह प्रभावित हुआ-

Prev1 of 12Next
Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY