इस स्कूल में फीस की जगह ली जाती है बेकार रखी प्लास्टिक की बोतलें जानिए क्या है कारण

0
12
Staples High School

जयपुर, बच्चें कितने प्यारे होते है उनकी शरारते हर किसी​ का अपनी तरफ ध्यान आकर्षित करती है विश्व में शायद ही ऐसा कोई इंसान होगा जो अपने बच्चों को पाठशाला भेजना पंसद नही करता होगा चाहे इसके लिए उसे दुगुनी मेहनत ही क्यूं न करनी पड़े।हर इंसान चाहता है कि उसका बच्चा पढ़ लिखकर एक अच्छा इंसान बन जाए और समाज मे अपना एक मुकाम बनाए साथ ही परिवार का नाम भी रोशन करें।लेकिन आर्थिक तंगी के चलते लोेग ऐसा नही कर पाते है।आज हम आपको ऐसे स्कूल के बारे में बताने जा रहे है जिसके बारे में सुनकर आपको बहुत ही ज्यादा आश्चर्य होगा क्योंकि इस स्कूल में फीस के नाम पर प्लास्टिक की बोतले ली जाती है।यह मामला नाजीरिया के लागोस शहर में स्थित एक स्कूल से सामने आया ​है।इस स्कूल का नाम बताया जा रहा है मॉरिट इंटरनेशनल स्कूल।जानकारी के लिए बता दें कि इस स्कूल में ऐसा करने की दो वजह बताई जा रही है जिसमें पहला तो पर्यावरण को साफ रखना है वही दूसरा कारण पारिवारिक स्थिति को मजबूत करना बताया जा रहा है।वही इस बारेे में स्कूल प्रशासन का कहना है कि हमने बच्चों के पेरेन्टस से स्कूल में फीस देने की बजाय बेकार रखी बोतलों को बच्चों के साथ स्कूल भेजने को कहा है वही इनसे जो भी राशि प्राप्त होगी उसे बच्चों की स्कूल फीस से लैस कर दिया जाएगा इसलिए आप जितना ज्यादा से ज्यादा हो सके बोतले भेजे।वही इस बारे मे एक बच्चे के पिता शेरिफत ओंकुवो का कहना है कि  आज के युग में बच्चों की फीस भरना कोई आसान काम नही है लेकिन स्कूल प्रशासन द्वारा जब से ये स्कीम शुूरू की गई है तभी से हमारे बच्चों को पढ़ाना काफी आसान हो गया है क्योंकि इस योजना के कारण हमारे बच्चों को स्कूल नहीं छोड़ना पडेगा।यह योजना अफ्रीकन क्लीन अप इनिशिएटिव और वीसाइक्लर्स संस्थाओं के सहयो्ग से इस स्कूल में प्रारंभ ​की गई थी।

Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY