यहां लगती है महिलाओं की मंडी, स्टाम्प पर होता है इज्जत का सौदा

आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बाताने जा रहे हैं। जहां पर प्रथा के नाम पर महिलाओं की मंडी लगती है और पति स्टाम्प पर साइन होते ही बदल जाते हैं।

0
165

जयपुर। हमारे देश भर में आज के समय में भी कई सारी ऐसी कुप्रथाएं हैं जिनकी आड़ में बहुत सारे गलत काम किए जाते हैं। आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बाताने जा रहे हैं। जहां पर प्रथा के नाम पर महिलाओं की मंडी लगती है और पति स्टाम्प पर साइन होते ही बदल जाते हैं। दरअसल, एमपी के शिवपुरी में धड़ीचा नाम की एक परंपरा अदा की जाती है।

जी हां, देश के बीचों बीच स्थित इस गांव में अब तक यह कुरीति बदस्तूर जारी है। बताया जाता है कि कई बार समाज के लोगों ने इसे बंद करवाने की कोशिश भी की थी, मगर हर बार यह कोशिश नाकाम साबित हुई। खास बात यह है कि यहां पर स्टांप पेपर पर पति का सौदा होता है।

इस परम्परा में बिकने वाली महिला एवं खरीदने वाले शख्स के मध्य एक कॉन्ट्रैक्ट होता होता है। अधिक पैसे होने पर संबंध लंबे वक्त तक रहता है। वहीं, यदि पैसे कम हो तो शीघ्र ही समाप्त हो जाता है। इस कॉन्ट्रैक्ट के समाप्त होने पर औरत का अन्य शख्स संग समझौता कर दिया जाता है।

गांव में निवास करने वाली एक औरत ने बताया कि इस कुप्रथा को समाप्त करने हेतु अनेक बार सरकार ने कोशिश भी की किन्तु फिर भी ये परम्परा समाप्त नहीं हुई एवं औरतें आज भी यौन संबंध का शिकार हो रही है। गर्ल्स काउंट के प्रमुख के मुताबिक, लिंग अनुपात कम होने से काफी सारी सामाजिक बुराइयां पैदा होती है। इन्हीं में से एक महिलाओं को जानवरों जैसे खरीद फरोख्त करना भी है।

Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY