लॉकडाउन में हुई शादी और अब अनलॉक में हो रहा है तलाक…

0
10

जयपुर, देश में 17 मई तक लॉकडाउन लगाया गया था। वहीं इस दौरान शादियों का सीजन चालू हो गया था। उस समय  शादी का मतलब था ‘नो बैंड, बाजा और बारात। क्योंकि लॉकडाउन के चलते ज्यादा लोगों के इकट्ठा होने पर रोक है।हाल ही में मुजफ्फरनगर जनपद से एक हैरान कर देने वाला मामला सामने आ रहा है। यहां पर एक लड़की को अपने परिवार वालों की मर्जी से शादी करना काफी मंहगा पड़ गया। लड़की के मुताबिक उसके परिवार वालों ने उसकी शादी जून महीने में शामली जनपद के रहने वाले एक युवक से करवाई थी। लेकिन उस समय दूल्हा पक्ष ने बिना दहेज के शादी करने के लिए कहा था। लेकिन शादी के दो महीने बाद ही ससूराल वाले दहेज के लिए युवती को प्रताड़ित करने लगे। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार ये मामला जनपद के मुजफ्फरनगर थाना बुढ़ाना कोतवाली क्षेत्र के हुसैनपुर कंला गांव से सामने आय़ा है। यहां पर रहने वाले पेशे से मजदूर व्यक्ति ने अपनी 20 साल की बेटी ताहिरा का निकाह लॉकडाउन के बीच शामली जनपद के रहने वाले नदीम नाम के साथ बिना दहेज के हुई थी। दूल्हा पक्ष बिना दहेज के ही शादी से सहमति देते हुए निकाह कर लिया और ताहिरा को अपने सास ससुराल ले गए। निकाह के दो महीने बाद ही नदीम के परिवार वाले ताहिरा को 2 लाख रूपये और एक बाइक के लिए प्रताड़ित करने लगे।इतना ही नहीं हद तो तब हो गई जब बहू के साथ मारपीट कर उसको घर से बाहर निकाल दिया और कहा की जब तक गाड़ी और पैसा लेकर नहीं आती है तब तक वो घर में ना घुसे।वहीं अब पीडित ने पुलिस मे मामला दर्ज करवाया है।

Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY