सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

कभी ‘बालों का गुच्छा’ तो कभी ‘धोनी का बैट’, ये हैं दुनिया की चौंका देने वाली बेशकीमती निलामियां

ये कहानी है मैसूर के राजघराने की दीवान की बेटी ‘शकिरा नमाज़ी खलीली’ की। देखने में इतनी खूबसूरत की मानो हर वक्त चाहने वालों की लंबी लाइन लगी रहती थी। लेकिन उसकी ही किस्मत या फिर यूं कह लें कि उसी के प्यार ने उसे धोखा दे दिया। जी हां, हम यहां बात कर रहे हैं उस मर्डर मिस्ट्री जिसे देशभर में ‘डांसिग ऑन द ग्रेव’ के नाम से जाना जाता है और जिसने 3 सालों तक पुलिस और प्रसाशन के पसीने छुड़ा दिए थे। और आखिरकार 3 साल बाद उस राज़ से पर्दा उठा और जो हकीकत सामने आई वो दिल दहला देने वाली थी। आखिर कैसे हुई थी उसकी मौत?

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

कहते हैं कि शकिरा को जिससे प्यार हुआ था उसी ने पहले तो उससे बेपनाह मोहब्बत की और फिर उसे ज़िंदा ही तफना दिया। इतना ही नहीं बल्कि हद तो तब हुई जब वह उसी कि कब्र पर 3 साल तक नाचता रहा। अब सवाल ये उठता है कि ये बातें सच है या महज़ एक अफवाह। तो आइए जानते हैं इस केस को सिरे से-

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

अच्छा! तो इसलिए अच्छे लड़को को अक्सर प्यार में मिलता है धोखा…

शकिरा की पहली शादी रिटायर्ड आईएफएस ऑफिसर और ऑस्ट्रेलिया के हाई कमिश्नर रह चुके अकबर मिर्ज़ा खलीली से हुई थी। 25 सालों तक तो सबकुछ ठीक रहा, इस दौरान उनकी 4 बेटियां भी हुई। लेकिन एक दिन एक प्रोग्राम में शकिरा कि मुलाकात मुरली मनोहर मिश्र से हुई। मुरली उस वक्त राजघराने का नौकर हुआ करता था, लिहाज़ा दोनो की पहली मुलाकात एक नौकर और मालकिन के रुप में हुई। लेकिन वो मुलाकात कुछ ऐसी थी कि धीरे-धीरे प्यार में बदल गई।

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

इस प्यार की वजह थी शकिरा के मन में खल रही बेटे की कमी। कुछ ही समय में शकिरा ने पति को तलाक दे दिया, जिसके साथ- साथ उसकी 3 बेटियां भी उससे दूर हो गई। अब वह मुरली के साथ बैंग्लुरु शिफ्ट हो गई और उसकी छोटी बेटी शबा मॉडलिंग के लिए मुंबई चली गई। ईधर तब तक टैक्ट और प्रॉपर्टी की अच्छी समझ होने के कारण मुरली स्वामी श्रद्धानंद बन गया। कुछ वक्त तक सबकुछ ठीक रहा लेकिन एक दिन अचानक शकिरा गायब हो गई।

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

यहां पुरुष रहते हैं पर्दे में और महिलाओं को है किसी के भी साथ संबंध बनाने की आज़ादी, जानें कैसा है ये अजीबो- गरीब नियम

इस बात का खुलासा तब हुई जब बेटी शबा के बार-बार फोन करने पर भी उसकी बात उसकी मां से नहीं हो पाती थी। आखिर में मां की चिंता उसे बैंगलुरु तक खींच लाई, फिर शबा और श्रद्धानंद ने मिलकर उसे 9 महीनों तक खूब ढूंढा मगर वो नहीं मिली। फिर एक दिन श्रद्धानंद ने शबा से कहा कि उसकी मां प्रेगनेंट है और वह अभी अमेरिका के रूजवेल्ट हॉस्पिटल में एडमिट है। मगर शबा के पूछ-ताछ के बाद ये जानकारी झूठी निकली और उसने शकिरा की गुमशूदगी कि रिपोर्ट दर्ज करा दी।

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

पुलिस को श्रद्धानंद पर शक था मगर कोई भी सुराक हाथ नहीं लगा। लेकिन 3 साल बाद जब केस बंद होने की कगार पर था तब एक दिन अचानक एक ठेके पर बैठे क्राइम ब्रांच के कॉंस्टेबल के सामने एक शख्स आया और कहने लगा कि जिस शकिरा को पुलिस ढूंढ रही है वह तो ज़िंदा ही नहीं है। यह सुनते ही पुलिस ने उसे रिमांड पर ले लिया और फिर जमकर उससे पूछताछ की। वो शख्स और कोई नहीं बल्कि श्रद्धानंद के घर का एक नौकर था। शख्ती दिखाने पर उसने सबकुछ उगल दिया, उसने बताया कि 28 अप्रैल 1991 को श्रद्धानंद ने घर के सारे नौकरों को छुट्टी दे दी और फिर अपने हाथों से चाय बनाकर अपनी पत्नी शकिरा को पिलाया और उस चाय में मिलाई थी नशे की गोलिया, जिसके पीते ही शकिरा बेहोश हो गई।

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

उसके बाद श्रद्धानंद ने दरिंदगी की सारी हदें पार करते हुए उसे एक गद्दे में लपेटकर ताबुत में बंद कर दिया और फिर उसे ज़मीन में ज़िंदा दफना दिया। उसके बाद उसने कब्र के ऊपर शानदार टाइल्स लगवा दी। और फिर 3 सालों तक उसी कब्र के ऊपर अपने दोस्तों के साथ शराब पीता और नाचता-गाता। नौकर के इस बयान के बाद जब कब्र खोदी कई तो वहां से ताबुत में बंद एक शव मिला ज़ेवर से शकिरा की शनास्त भी हो गई लेकिन ताबुत पर जो नाखून के निशान मिले उसे देखकर किसी के मन में रुह को कंपा देने वाला ख्याल आएगा जब होश में आने के बाद शकिरा तड़पतड़प कर मरी होगी।

सच्ची कहानी: पत्नी को जिंदा चुनवा, 3 साल तक उसी की कब्र पर नाचता रहा ये शख्स (Murder Mystery)

जानकारी के मुताबिक श्रद्धानंद ने शकिरा से सिर्फ पैसों के लिए शादी की थी, मगर शकिरा ने इंडिया आते ही अपनी सारी संपत्ती अपनी चारों बेटियों के नाम कर दिया था, जिसके बाद श्रद्धानंद ने उसे मारने का प्लेन बनाया। फिलहाल श्रद्धानंद कर्नाटक के बेलगाम जेल में अपनी उम्रकैद की सज़ा काट रहा है।

ये भी पढ़ें- 

कहीं रविवार को नहाना मना तो कहीं मूंछो वाले मर्दों के साथ रहना है जुर्म, जानिए ऐसे ही अजीबोगरीब कानूनों के बारें में…

अगर आपके पार्टनर में है ये खूबियां तो बिना देर किए बना लें उसे अपनी Wife

ये हैं भारत के शीर्ष 10 एनकाउंटर स्पेशलिस्ट, जिनके नाम से थर थर काँपते है अपराधी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY