खतरनाक बीमारी से पीड़ित इस युवति ने हिम्मत और हौंसले से बनाई है अपनी पहचान

0
30

जयपुर,किसी भी इंसान को असली मुकाम अपनी इच्छाशक्ति,पैशन,मेहनत और लग्न के दम पर ही मिलता है इसके बिना कोई भी इंसान आगे नहीं बढ़ सकता है।इसके अलावा इंसान में उस काम को करने का जूनून भी होना चाहिए क्योंकि कोई भी काम छोटा या बड़ा नहीें होता है छोटी होती है तो इंसान की सोच।कि वो किसी भी काम को करने से पहले सोचता है आज हम आपको एक ऐसी युूवती के बारें में बताने जा रहे है जिसके जज्बें ओर हुनरे के बारें में सुनकर आपको बेहद ही आश्चर्य होगा क्योंकि इस युवति ने खतरनाक बीमारी से पीड़ित होने के बावजूद हार नहीे मानी और आई ए एस बनकर दिखाया।इस लड़की का नाम बताया जा रहा है उम्मुल खेर ये राजस्थान के पाली मारवाड़ की रहने वाली है इनकी उम्र बताई जा रही है ​तकरीबन 28 साल।जानकारी के लिए बता दें कि इनके एक ऐसी बीमारी है जिसमें इनके शरीर की हड्डियां बहुत आसानी से टूट जाती थी।इस  बीमारी का नाम बताया जा रहा है ऑस्टियो जेनेसिस।अभी तक इनके 16 फ्रैक्चर और आठ बार सर्जरी हो चुकी है।इस बारें में उम्मुल का कहना है कि उसका बचपन से सपना आईएएस बनने का था।लेकिन इस सपने को पूरा करने के दौरान मुझे कई परेशानियों का सामना भी करना पड़ा मेरे लिए ​​​आइ ए एस बनने तक का सफर इतना आसान नहीं था क्योे​कि मेरे घर की हालात भी सही नहीं ​थी,बिमारी और किसी भी प्रकार से घर वालों का कोई सहयोग नहीं मिलना भी मेरें लिए काफी दर्दनाक था लेकिन इन सब के बावजूद मैंने हार नहीं मानी और साहस,मेहनत,लग्न और ​हिम्म्त के साथ आगें बढने का निश्चय किया।

 

Use your ← → (arrow) keys to browse

Click Here to Share This on Whatsapp

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY